Disaster Management
Permanent Disasters
Upcoming Training/Workshop

Apply for Training @Shantikunj
Apply for Training Workshop
Recent Relief Work
Latest Disaster Updates
Notice Board
AWGP DM team work on 3 phase:
  • Rescue (बचाव कार्य)
  • Relief ( राहत )
  • Rehabilitation( पुनर्वास )

Donation - Contribute
Shantikunj Apda Rahat Kosh
A/c Shri VedMata Gayatri Trust
A/C No. 30491675367 ( S.B.I. )
IFSC Code:  SBIN0002350
Donate Online


Home > Relief Work > कलिंग उत्कल एक्सप्रेस हादसा राहत कार्य

१९ अगस्त की सायं को हुई कलिंग उत्कल एक्सप्रेस के भीषण हादसा के समाचार मिलने के तुरंत बाद गायत्री परिवार प्रमुख डॉ. प्रणव पण्ड्या एवं संस्था की अधिष्ठात्री शैलदीदी ने शांतिकुंज आपदा प्रबंधन दल को राहत कार्य में जुटने का निर्देश दिया। निर्देश पाकर आपदा प्रबंधन की टीम सायं ७ बजे घटना स्थल के लिए रवाना हो गयी। इसके साथ ही मेरठ व मुजफ्फरनगर के गायत्री परिजनों को भी पीड़ितों की तत्काल सेवा करने का कहा गया। देर रात तक शांतिकुंज आपदा प्रबंधन टीम सेवा सुुश्रुषा में जुटी रही।

वहीं शांतिकुंज, जिला प्रशासन एवं रेलवे के सहयोग से देर रात तक मप्र के ६०, उप्र के १४, त्रिपुरा के १०, छत्तीसगढ़ के १०, हरियाणा के ०२, गुजरात के ४ एवं ओडिशा के ०३ प्रभावित लोग गायत्री तीर्थ पहुँचे। व्यवस्थापक श्री गौरीशंकर शर्मा जी की देखरेख में उनकी चिकित्सा, भोजन आवास आदि की पूरी व्यवस्था की गयी। श्री शर्मा के अनुसार ५ घायलों की चिकित्सकीय उपचार शांतिकुंज चिकित्सालय मे की जा रही है।
शांतिकुंज आपदा प्रबंधन विभाग के प्रमुख श्री गौरीशंकर शर्माजी ने बताया कि हमारी टीम गायत्री तीर्थ में ठहरे प्रभावितों के अलावा हरिद्वार के जिला चिकित्सालय सहित विभिन्न राहत शिविरों में भी सेवा सुश्रुषा, नाश्ता व भोजन व्यवस्था में जुटी है। उन्होंने बताया कि शांतिकुंज पीड़ितों के सहयोग के लिए सदैव तत्पर है। यहाँ ठहरे प्रभावितों को उनके घर तक पहुँचाने की समुचित व्यवस्था भी की जायेगी।

पीड़ितों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करते हुए गायत्री परिवार प्रमुखद्वय श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्याजी एवं श्रद्धेया शैलदीदीजी ने कहा कि पीड़ित परिजनों की सेवा करना ईश्वर आराधना की तरह है। व्यवस्थापक श्री गौरीशंकर शर्माजी ने बताया कि कलिंग उत्कल हादसा में दिवंगत हुए लोगों की आत्मा की शांति एवं सद्गति के लिए प्रातःकाल हवन किया गया। साथ ही सामूहिक प्रार्थना एवं श्राद्ध तर्पण भी किये गये।
Related Images
Latest Happening News/Activities
Recent Videos